🪔श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी) & (English Lyrics) PDF

Print Friendly, PDF & Email
5/5 - (1 vote)

श्री भागवत भगवान जी की आरती (हिंदी), shree bhagwat bhagwan ki aarti lyrics, shrimad bhagwat bhagwan ki aarti lyrics, aarti shri bhagwat bhagwan ki, bhagwat puran ki aarti –

श्री भगवत भगवान की है आरती,
पापियों को पाप से है तारती।

ये अमर ग्रन्थ ये मुक्ति पन्थ,
ये पंचम वेद निराला,
नव ज्योति जलाने वाला।
हरि नाम यही हरि धाम यही,
यही जग मंगल की आरती
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

ये शान्ति गीत पावन पुनीत,
पापों को मिटाने वाला,
हरि दरश दिखाने वाला।
यह सुख करनी, यह दुःख हरिनी,
श्री मधुसूदन की आरती,
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

ये मधुर बोल, जग फन्द खोल,
सन्मार्ग दिखाने वाला,
बिगड़ी को बनानेवाला।
श्री राम यही, घनश्याम यही,
यही प्रभु की महिमा की आरती
पापियों को पाप से है तारती॥
॥ श्री भगवत भगवान की है आरती…॥

श्री भगवत भगवान की है आरती,
पापियों को पाप से है तारती।

।। इति भागवत आरती समाप्त ।।

Shri Bhagwat Bhagwan Ji Ki Aarti, Hindi (English Lyrics) –

Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye amar granth ye mukti panth,
Ye pancham ved nirala,
Nav jyoti jalane wala.
Hari naam yahi, Hari dham yahi,
Yahi jag mangal ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye shanti geet pavitra punit,
Papon ko mitane wala,
Hari darsh dikhane wala.
Yeh sukh karni, yeh dukh harini,
Shri Madhusudan ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Ye madhur bol, jag phand khole,
Sanmarg dikhane wala,
Bigdi ko banane wala.
Shri Ram yahi, Ghanashyam yahi,
Yahi Prabhu ki mahima ki aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

Shri Bhagwat Bhagwan ki hai aarti,
Papiyon ko pap se hai tarati.

आरती संग्रह – लिंक

चालीसा संग्रह – लिंक

Leave a Comment